Saturday , 24 February 2024
Home खेती kheti kisani : इन फूलों की खेती करके  किसान कमा रहे है लाखों रुपये , जाने इस खेती से जुड़ी डिटेल्स 
खेती

kheti kisani : इन फूलों की खेती करके  किसान कमा रहे है लाखों रुपये , जाने इस खेती से जुड़ी डिटेल्स 

किसान पारंपरिक खेती छोड़ फूल उगाकर कमा रहे हैं हजारों रुपये, जानते हैं इस खेती से जुड़ी जानकारी फूलों की मांग हमेशा बनी रहती है, भारत में फूलों का उपयोग विशेष पूजा, त्योहारों और कई अन्य स्थानों पर किया जाता है। इसे नकदी फसल माना जाता है. मध्य प्रदेश में गुलाब, गेंदा, गुलदाउदी, लिली, स्टार-फूल और बल्बनुमा फूल विशेष रूप से प्रमुख हैं। यहां भारत में ये फूल खूब उगाए जाते हैं और किसान इन फूलों को उगाकर अच्छा पैसा कमाते हैं। हम इन फूलों को घर पर नहीं उगा सकते, इसलिए इन्हें खेतों से आयात करके बेचा जाता है। इसकी बदौलत किसान हर दिन अच्छी खासी रकम कमा सकते हैं। जानिए इस खेती के फायदे,

मौसम के अनुसार करें ये खेती-

मध्य प्रदेश की जलवायु उष्णकटिबंधीय मानसूनी जलवायु है। इसका मतलब यह है कि मध्य प्रदेश की जलवायु और भूमि फूलों की खेती के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। यही कारण है कि आज मध्य प्रदेश के किसान पारंपरिक खेती के बजाय फूलों की खेती पर अधिक ध्यान दे रहे हैं। अगर आप भी फूल उगाना चाहते हैं तो जलवायु और मिट्टी के आधार पर फूल उगा सकते हैं। बाजार में फूलों की भी काफी मांग है.

फूलों को संरक्षित तरीके से उगाना –

पॉलीहाउस, ग्रीनहाउस, नेट हाउस, वॉकिंग टनल और लो टनल जैसे कई निर्माण संरक्षित कृषि के अंतर्गत हैं। संरक्षित खेती का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसके माध्यम से किसान विपरीत परिस्थितियों या बेमौसम में भी गुणवत्तापूर्ण फसलें लगा सकता है। जिन किसानों के पास बहुत कम जमीन है वे इस खेती से अच्छा पैसा कमा सकते हैं।

kheti kisani : इन फूलों की खेती करके  किसान कमा रहे है लाखों रुपये , जाने इस खेती से जुड़ी डिटेल्स
kheti kisani : इन फूलों की खेती करके  किसान कमा रहे है लाखों रुपये , जाने इस खेती से जुड़ी डिटेल्स 

Read also :- latest-suit-designs :दिखना चाहती है स्टाइलिश ,फेस्टिवल  के लिए देखें लेटेस्ट और खूबसूरत गाउन स्टाइल सलवार-सूट डिजाइंस

फूल उगाते समय मिट्टी –

फूल लगाने से पहले साथी किसानों को अपने खेतों की मिट्टी की जांच करानी चाहिए. परीक्षण के लिए वे नजदीकी मृदा स्वास्थ्य परीक्षण प्रयोगशाला एवं कृषि विज्ञान केंद्र में भी जाकर परीक्षण करा सकते हैं। मृदा स्वास्थ्य कार्ड में मिट्टी का भली-भांति परीक्षण किया जाना चाहिए। ताकि फूलों की फसल अच्छी हो सके.

फूलों की खेती से लाभ एवं हानि –

एक हेक्टेयर भूमि पर फूल उगाने में 25,000 रुपये का खर्च आ सकता है। इसमें फूलों के बीज खरीदने से लेकर खाद, सिंचाई और निराई-गुड़ाई सब कुछ शामिल है। हालाँकि, शुरुआत में परिवार के सदस्यों को फूलों की दुकान में नियोजित करके श्रम लागत को कम किया जा सकता है। वहीं अगर आप आम के तालाब पर फूल उगाते हैं तो आपको प्रति वर्ष 75,000 रुपये तक का मुनाफा हो सकता है. और आप अच्छी खासी रकम खो सकते हैं।

Read also :- Sanp Ka Video – केला समझ कर सांप उठाने लगा शख्स, वीडियो देख थम जाएंगी सांसें 

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

किसान बन सकते है लखपति इस फल  की खेती करके , जाने इस फल का नाम क्या है

स्ट्रॉबेरी की खेती से गरीब किसानों को भी मिलेंगे लाखों रुपए, कम...

किसान कमा रहे है लाखों रुपये एवोकैडो की खेती करके , जाने इस खेती से जुड़ी डिटेल्स

एवोकाडो की खेती किसानों को बनाएगी धन्ना सेठ, हर साल होगी मोटी...