Tuesday , 16 April 2024
Home खेती Vegetable Farming – इन सब्जियों की करें खेती, होगा लाखों रूपए का फायदा
खेतीदेश

Vegetable Farming – इन सब्जियों की करें खेती, होगा लाखों रूपए का फायदा

Vegetable Farmingजून महीने में भिंडी और खीरे की खेती करना सबसे ज्यादा बेहतर रहेगा। अगर किसान अभी भिंडी और खीरे की खेती करते हैं, और अगस्त माह से इसका उत्पादन की भी शुरूआत हो जाएगी। 3 दिन बाद मई का महीना खत्म हो रहा है। ठीक इसके बाद जून माह का आगमन हो जाएगा।

इस बार जून माह के पहले हफ्ते में ही मानसून का आगमन हो रहा है। इसके साथ ही बारिश का दौर की भी शुरूआत हो जाएगी और किसान धान की खेती की तैयारी में व्यस्थ हो जाएंगे। ऐसे में लोगों को लगता है कि मानसून के आगमन के बाद केवल धान की ही खेती की जा सकती है, लेकिन ऐसी बात नहीं है।

आप जून के महीने में हरी सब्जियों की भी खेती कर सकते हैं। इससे आपकी धान के मुकाबले बेहतर कमाई होगी। बस इसके लिए आपकों खेती का एक खास उपाय करना होगा। तो आज जानते हैं जून महीने में खेती में बुवाई की जाने वाली सब्जियों के बारे में।

पालक – किसान जून माह मेें पालक की बुवाई कर सकते हैं। इसके लिए खेत की 3 से 4 बार जुताई करनी होगी, ताकि मिट्टी भुरभुरी हो जाए। फिर, खाद के रूप में खेत में गाय का गोबर डालें और पाटा चलाकर जमीन को बराबर कर दे।

इसके बाद क्यारी बनाकर आप पालक की खेती कर सकते हैं। एक महीने के बाद पालक तैयार हो जाएगा। इसके बाद आप इसकी कटाई कर आप बाजार में ले जाकर इसे बेच भी सकते हैं।

बाजार में पालक की कीमत ज्दातर 20 से 30 रुपये किलो के बीच ही रहती है। इस प्रकार आप पालक की खेती से अच्छी इनकम प्राप्त कर सकते हैं।

भिंडी और ककड़ी – आपके लिए जून माह में भिंडी और ककड़ी की खेती करना भी फायदेमंद रहेगा। अगर किसान अभी भिंडी और ककड़ी की खेती करते हैं, अगस्त माह से इसका उत्पादन की भी शुरूआत हो जाएगी।

आप अक्टूबर महीने तक आप अपने खेत से ककड़ी और भिंडी को तोड़ सकते हैं। बरसात के मौसम में भिंडी जहां 60 से 80 रुपये किलो बाजार में बिकती है, वहीं ककड़ी का भी रेट 40 रुपये किलो हो जाता है। इस तरह किसान भिंडी और ककड़ी को बेचकर बेहतर मुनाफा कमा सकते हैं।

करेला, लौकी, तोरई – इसी तरह से आप जून के महीने में करेला, लौकी और तोरई की खेती करना भी किसानों के लिए लाभदायक रहेगा। बारीश के मौसम में इन फसलों का भी ज्यादा उत्पादन मिलता है।

खास बात ये है कि ये तीनों फसलें 40 दिन में तैयार हो जाती है। इसका मतलब आप 40 दिन के बाद सब्जी की तुड़ाई कर सकते हैं। इन सब्जियों को बेचकर किसान अच्छी आमदनी भी कर सकते हैं।

भटा, मिर्च और टमाटर – अगर किसान चाहें तो जून माह में पॉलीथीन से बना एक छाया रहित घर जिसका उपयोग कृषि उत्पादों को उत्पन्न करने के लिये किया जाता है। इसके अंदर आप भटे, मिर्च और टमाटर की भी खेती की भी शुरूआत कर सकते हैं।

इससे किसानों को अच्छी आमदनी होगी। बरसात के मौसम में टमाटर की कीमत बहुत ज्यादा हो जाती है। ऐसे में किसान टमाटर की फसल को बेचकर अच्छी आमदनी कमा सकता है।

Source – Internet

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

जाने वन्दे भारत ट्रैन में क्या क्या मिलती है सुविधा और कितना आ सकता है इसका खर्चा | Vande Bharat

Vande Bharat: भारतीय रेल जल्‍द ही नई वंदे भारत स्‍पीलर एक्‍सप्रेस ट्रेनों...

Maha Shivratri Mehndi designs : महाशिवरात्रि श्रावण महोत्सव के अवसर  पर लगाएं ये खास मेहंदी डिजाइन 

इस महाशिवरात्रि पर्व पर कई महिलाएं मेहंदी लगाना पसंद करती हैं। इस...

MSP Price – सरकार ने तय किया गेहूं, सरसों व चने का MSP, जानिए कब से होगी खरीद

MSP Price – नई दिल्ली: भारत सरकार ने 2023-24 के रबी विपणन...

Kheti Kisani – खेतों में फसलों को सुरक्षित रखने सबसे फायदेमंद है नीम का तेल

कीटों को भी प्रभावी ढंग से करता है नियंत्रित  Kheti Kisani –...