Monday , 15 April 2024
Home देश Smart Phone – स्मार्टफोन आपकी आंखें कमजोर कर सकता है दृष्टि में धुंधलापन और ड्राई आई की समस्याएं हो सकती हैं।
देश

Smart Phone – स्मार्टफोन आपकी आंखें कमजोर कर सकता है दृष्टि में धुंधलापन और ड्राई आई की समस्याएं हो सकती हैं।

Smart Phoneजयपुर वैसे तो स्मार्टफोन जितना आपकी जिन्दगी में महत्वपूर्ण है और उतना ही आपके लिए घातक भी हो सकता है क्योंकि स्मार्टफोन से आपकी आंखें कमजोर कर सकता है क्योंकि आपको इसे आंखों के काफी पास में रखना पड़ता है, और लंबे समय तक इसे आंखों के पास में रखने से और हमे एक जैसे स्मार्टफोन की स्क्रीन पर टकटकी लगाने से आंखों में दर्द, खुजली, लालिमा, सिरदर्द, दृष्टि में धुंधलापन और ड्राई आई की गंभीर समस्याएं भी हो सकती हैं।

स्मार्टफोन की स्क्रीन पर नजर गड़ाने से भी आंखों पर दबाव पड़ता है l Smart Phone

स्मार्टफोन के ज्यादा उपयोग करने से आपकी आंखें कमजोर पड़ सकती है क्योंकि इसे आंखों के काफी पास में रखना पड़ता है, ये लंबे समय तक नजदीक से स्क्रीन पर टकटकी लगाने या नजर गड़ाने से आंखों में दर्द की समस्या, खुजली, लालिमा, सिरदर्द, दृष्टि में धुंधलापन और ड्राई आई की समस्या काफी हद तक बढ़ सकती हैं।

और लंबे समय तक नेट सर्चिग करने, मैसेज को टाइप करने और चलते हुए वाहन में बैठकर मोबाइल के स्क्रीन पर एक सरीकी नजर गड़ाने से भी आंखों पर दबाव पड़ता है। युवा, स्मार्टफोन को आंखों के काफी नजदीक रखते हैं (10-12 इंच) जिससे निकट दृष्टि दोष होने की आशंका बढ़ जाती है।

लंबे समय तक एक निश्चित स्थिति में स्क्रीन पर टकटकी लगाने से गर्दन की मांसपेशियों में कड़ापन भी आ जाता है। स्क्रीन से निकलने वाली नीली रोशनी हमारे शरीर में मेलाटोनिन का उत्पादन कम कर सकती है, जिससे नींद आने में काफी परेशानी भी हो सकती है।

किसी विशेषज्ञ डॉक्टर की सलाह लें

नेत्र रोग विशेषज्ञों के अनुसार स्मार्टफोन का प्रयोग करते समय पलकों को बार-बार झपकाएं। इसे एक बार में एक घंटे से ज्यादा प्रयोग ना करें। स्मार्टफोन का उपयोग करते वक्त आपको अपने स्मार्टफोन को करीब एक फुट की दूरी पर रखना चाहिए। क्योंकि इससे ड्राई आई की समस्या में टियर सब्सटिट्यूट (आंखों में नमी के लिए) का दिन में 2 से 3 बार प्रयोग अवश्य करें, इनका कोई दुष्प्रभाव नहीं होता।

हड्डियों में दर्द होना l Smart Phone

हड्डियों के डॉक्टर एवं इसके किशेषज्ञ की सलाह के अनुसार, लगातार कई घंटों तक फोन का उपयोग करने से रूमेटाइड आर्थराइटिस की परेशानी हो सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि लोग घंटों तक फोन को हाथों में पकड़कर रहते हैं। इससे कलाई और कोहनी में दर्द होता है। जिसके कारण ये दर्द लगातार बना रहता है तो रूमेटाइड आर्थराइटिस होने का खतरा काफी हद तक बढ़ जाता है।

फोन के ज्यादा इस्तेमाल से मानसिक सेहत पर भी असर पड़ता

डॉक्टरों के मुताबिक, स्मार्ट फोन को बिना किसी भी जरूरत के उपयोग करने से हमें बचना चाहिए। क्योंकि अधिकतर वक्त बिताने के लिए कई घंटों तक फोन का उपयोग करते हैं, और कोशिश यह भी करें कि दिन में डेढ़ घंटे से ज्यादा फोन का उपयोग भूलकर भी न करें। ऐसा न करने से आपके मेंटल हेल्थ पर भी असर पड़ता है। खासतौर पर रात के समय फोन का उपयोग मानसिक सेहत को बिगाड़ सकता है।

स्मार्टफोन का ज्यादा उपयोग करने से नींद का पैटर्न खराब होता है l Smart Phone

वैसे तो स्मार्टफोन फोन के ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल करने से नींद का पैटर्न भी खराब होता है। कई बच्चों को नींद न आने की समस्या हो जाती है। रात में फोन के उपयोग से सोने के घंटे कम हो जाते हैं, जिसका सीधा प्रभाव हमारी सेहत पर पड़ता है। नींद बिगड़ने की वजह से सिरदर्द और पेट खराब होने जैसी परेशानी का भी सामना करना पड़ सकता हैं।

डिसक्लेमर की भी हो सकती है गंभीर समस्या

इस जानकारी का मुख्य उद्देश्य केवल रोगों और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के प्रति लोगों को जागरूक करना है। यह किसी मेडिकल या किसी विशेषज्ञो का विकल्प नहीं है। इसलिए आप कोई भी दवाए उपचार या नुस्खे को अपनी मन मर्जी से ना आजमाएं बल्कि इस समस्या के बारे में उस चिकित्सा पैथी से संबंधित एक्सपर्ट या डॉक्टर की राय अवश्य लेवेंं।

Source – Internet

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

जाने वन्दे भारत ट्रैन में क्या क्या मिलती है सुविधा और कितना आ सकता है इसका खर्चा | Vande Bharat

Vande Bharat: भारतीय रेल जल्‍द ही नई वंदे भारत स्‍पीलर एक्‍सप्रेस ट्रेनों...

Maha Shivratri Mehndi designs : महाशिवरात्रि श्रावण महोत्सव के अवसर  पर लगाएं ये खास मेहंदी डिजाइन 

इस महाशिवरात्रि पर्व पर कई महिलाएं मेहंदी लगाना पसंद करती हैं। इस...

MSP Price – सरकार ने तय किया गेहूं, सरसों व चने का MSP, जानिए कब से होगी खरीद

MSP Price – नई दिल्ली: भारत सरकार ने 2023-24 के रबी विपणन...

Kheti Kisani – खेतों में फसलों को सुरक्षित रखने सबसे फायदेमंद है नीम का तेल

कीटों को भी प्रभावी ढंग से करता है नियंत्रित  Kheti Kisani –...