Friday , 23 February 2024
Home देश ram charit manas – के अनुसार सफलता मिलने पर अपने कर्तव्यों को न भूले
देश

ram charit manas – के अनुसार सफलता मिलने पर अपने कर्तव्यों को न भूले

ram charit manasकुछ लोग होते हैं जो थोड़ी सी भी सफलता मिलने पर ही अपने कर्तव्य तुरन्त ही भूल जाते हैं। यहीं वे ऐसा कर रहे है तो वे अपने जीवन की सबसे बड़ी भूल कर रहे हैं। उन्हें यह बात पता होनी चाहिए कि उन्हें सफलता तभी मिली है जब उन्हें अपने कर्तव्यों का निर्वहन ठीक प्रकार से किया जाता है।

राम और लक्ष्मण सीता की खोज करते समय पहले हनुमान जी से मिले | ram charit manas

रामचरित मानस के अनुसार सीता की खोज करते-करते राम और लक्ष्मण पहले हनुमान से मिले। हनुमान ने उनकी मुलाकात सुग्रीव से कराई। सुग्रीव को उसके बड़े भाई बाली ने अपने राज्य से निकाल दिया था। उसकी पत्नी रोमा को भी अपने पास ही रख लिया। राम ने सुग्रीव को मदद का भरोसा दिलाया।

राम ने अपना वादा निभाया। राम ने बाली को मार कर किष्किंधा का राजा सुग्रीव को बना दिया। सुग्रीव को बरसों बाद राज्य और स्त्री का संग मिला। वो पूरी तरह राज्य को भोगने और स्त्री सुख में लग गया। तब वर्षा ऋतु भी शुरू हो चुकी थी।

कई दिन व्यतित हो जाने पर राम ने लक्ष्मण को सुग्रीव के पास भेजा

भगवान राम और लक्ष्मण एक पर्वत पर गुफाओं में निवास कर रहे थे। तभी वहां वर्षा ऋतु निकल गई। आसमान साफ हो गया। राम को इंतजार था कि सुग्रीव शीघ्र ही उनसे मिलने जरूर आएंगे और सीता की खोज जल्द ही शुरू हो जाएगी। लेकिन सुग्रीव पूरी तरह से राग-रंग में डूबे हुए थे।

उन्हें यह भी याद भी नहीं रहा कि उन्होंने भगवान राम से किया हुआ वादा पूरा भी करना है। जब बहुत दिन बीत गए तब राम ने लक्ष्मण को सुग्रीव के पास भेजा। लक्ष्मण ने सुग्रीव पर बहुत क्रोध किया तब उन्हें अहसास हुआ कि विलासिता में आकर उससे कितना बड़ा अपराध हो गया है।

सुग्रीव को वचन भूलने और विलासिता के कारण शर्मिंदा होना पड़ा | ram charit manas

सुग्रीव को अपने वचन भूलने और विलासिता में भटकने के लिए सबसे सामने शर्मिंदा होना पड़ा, माफी भी मांगनी पड़ी। इसके बाद सीता की खोज शुरू की गई। यह प्रसंग सिखाता है कि थोड़ी सी सफलता के बाद अगर हम कहीं ठहर जाते हैं तो मार्ग से भटकने का डर हमेशा ही रहता है।

कभी भी छोटी-छोटी सफलताओं को अपने ऊपर हावी ना होने दें। अगर हम छोटी या प्रारंभिक सफलताओं में उलझ कर रह जाएंगे तो कभी बड़े लक्ष्यों को हासिल नहीं कर पाएंगे।

Source – Internet

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Mahashivratri 2024 : शादी में आ  रही है बांधा , तो महाशिवरात्रि पर जरुर  करे, ये उपाय

महाशिवरात्री 2024: आपकी जानकारी के लिए बता दें कि महाशिवरात्री का त्योहार...

Voter ID Card – गुम हो गया आपका वोटर ID तो आसानी से घर बैठे करें अप्लाई 

प्रोसेस पूरा होते ही घर आ जाएगा डुप्लीकेट वोटर आईडी  Voter ID...